मंडी कैसे बने कम लागत मे 3D प्रिंटेड फेस मास्क और 3D प्रिंटेड फेस शेल्स

0
1386
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

सुंदरनगर । वैश्विक महामारी क्रोना दुनिया भर में लगभग 24 लाख शिकार हैं 165000 लोगों की इस में मृत्यु हो चुकी है भारत में क्रोना मरीजों की संख्या दिनोंदिन बढ़ रही है वैश्विक महामारी क्रोना की लड़ाई में हमारे योद्धा डॉक्टर लड़ रहे हैं तो उनकी सेफ्टी के लिए सुंदर नगर के युवा इंजीनियर नाम प्रीतीश सिंह इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में बीटेक की हुई है और आजकल डाटा साइंस का कोर्स कर रहा है।
पिछले महीने जब कोरोनावायरस की वजह से भारत में मास्क की कमी होने लगी इस कमी को पूरा करने के लिए
जब इंटरनेट पर देखा के बाहर के सभी विकसित देशों में डॉक्टर्स और हॉस्पिटल में काम करने वाले कर्मचारियों के पास फेस शील्ड की सुविधा भी उपलब्ध है,
तब मैंने 3D प्रिंटेड फेस शील्ड कम लागत में घर पर ही बनाने का सोचा! मैं लोकल हॉस्पिटल्स में गया और अपनी डिजाइन डॉक्टर्स को प्रस्तुत किए उन सभी ने इन डिजाइंस को सराहा तो फिर मैंने एसडीएम सुंदरनगर को भी अपने फेस शील्ड और मास्क प्रस्तुत किए
तब मैंने अपने कंप्यूटर पर यह मास्क डिजाइन किए जोकि सैनिटाइज करने के बाद बार-बार इस्तेमाल किए जा सकते हैं! इस मास्क में फिल्टर्स को बदलने की सुविधा है जिससे कि आप साधारण 3 प्लाई मास्क को फिल्टर की तरह इस मास्क में 6 बार तक इस्तेमाल कर सकते है!
3D प्रिंटेड फेस मास्क और 3D प्रिंटेड फेस शेल्स डिजाइन किया है और घर पर ही इनको अपनी 3D प्रिंटर से बना रहा है
मैंने एसडीएम सुंदरनगर को भी अपने फेस शील्ड और मास्क प्रस्तुत किए और उन्हें बताया कि मैं इन्हें यहां के अस्पतालों में मुफ्त में बांटना चाहता हूं, अभी तक मैंने 10 3D प्रिंटेड फेस शील्ड बनाकर सिविल हॉस्पिटल में डॉक्टरों को दे दिए हैं फिलहाल मैं यह सभी फेस शील्ड अस्पतालों में डॉक्टरों को मुफ्त में बांट रहा हूं, अन्य व्यक्तियों के लिए इसकी कीमत मात्र 150 रुपए रखी गई है जबकि अन्य फेस शील्ड बाजार में अगर मंगवानी हो तो लगभग ₹700 की उपलब्ध होती है वह भी एक बार में इस्तेमाल करके फेंकना पड़ता है जबकि मेरे द्वारा बनाए गए 3D प्रिंटेड फेस शील्ड में ₹5 में बाहरी शील्ड को बदला जा सकता है! फिलहाल मेरे पास लगभग 15 से 20 और फेस शील्ड बनाने का ही सामान उपलब्ध है यदि कोई मुझे सामान उपलब्ध करवा सकें तो मैं और भी बना सकता हूं! मैं यही चाहता हूं के हमारे यहां के डॉक्टर तथा अन्य कार्यकर्ता चाहे वह पुलिस मैं हो या मीडिया में सभी के पास पर्याप्त साधन होने चाहिए इस वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए!

- विज्ञापन (Article inline Ad) -
- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखसैंज । लॉकडाउन के चलते शिक्षक ने स्थगित की अपनी शादी ।
अगला लेखशिमला ! 21 अप्रैल 2020 के फल और सब्जियों के दाम !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें