चुराह विधानसभा के अंतर्गत आने वाली कल्हेल पंचायत ने पेश की अनूठी मिसाल !

0
1323
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

चम्बा ! कहते हैं दिल में कुछ कर गुजरने की चाहत हो तो मंजिल खुद ब खुद ही मिल जाया करती है। जी हां यही कारनामा कर दिखाया है चंबा जिला के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत कल्हेल ने। चुराह विधानसभा क्षेत्र की उक्त पंचायत की आबादी 3500 के करीब है और यहां पंचायत में लोगों का आना जाना लगा रहता है जिसके चलते लोगों को ग्राम सभा की बैठकों में मुश्किलात पेश आती थी। लेकिन इस पंचायत के चुनिंदा प्रतिनिधियों ने मिसाल कायम करते हुए उक्त पंचायत का नक्शा ही बदल कर रख दिया है। इस पंचायत का नए तरीके से जीर्णोद्धार किया गया है जिसके चलते इस तरह का खूबसूरत भवन पूरे विधानसभा क्षेत्र में कहीं भी देखने को नहीं मिलता है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

जहां एक तरफ भवन को रंग-बिरंगे पेंट से सजाया गया है तो वही अंदर हॉल को अलग-अलग कलाकृति के माध्यम से बेहतर बनाया गया है। हॉल के अंदर पीवीसी के साथ बेहतरीन लाइटिंग लगाई गई है प्रधान और सेक्रेटरी तथा ग्राम सेवक के लिए अलग-अलग केबिन बनाए गए हैं ताकि कोबिड 19 के दौर में लोगों से सोशल डिस्टेंस के माध्यम से बात की जा सके केबिन में शीशे की मोटी परत लगाई गई है इसके अलावा पंचायत द्वारा भवन में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं ताकि पंचायत द्वारा की जा रही हर गतिविधि पर नजर बनी रहे और ग्रामसभाओ मैं पारदर्शिता का विशेष ध्यान रखा जाए जाहिर सी बात है कि इस तरह का पंचायत भवन बनने से जहां लोगों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी तो वहीं दूसरी तरफ पंचायत द्वारा बनाए गए इस भवन की तरीफ भी हो रही है। अब इस खूबसूरत भवन के बाहर पंचायत द्वारा लोगों के मौलिक अधिकारों के बारे में छोटे-छोटे स्लोगन लिखे जाएंगे ताकि लोगों में जागरूकता फैल सके और लोगों का रुझान पंचायतों की तरफ अधिक हो ।

वहीं दूसरी ओर पंचायत सेक्रेट्री रतन चंद का कहना है कि हमारी पंचायत का भवन पहले काफी पुराना था जिसके चलते ग्राम सभा में लोगों की संख्या अधिक होने से हमें खुद अजीब सा महसूस होता था लेकिन अभी हमने पंचायत भवन का नए तरीके से निर्माण किया है।

वहीं पंचायत के ग्राम सेवक सुरेंद्र कुमार का कहना है कि इस भवन को बनाने के लिए खासकर जिला प्रशासन वीडियो ऑफिस और पंचायत के सभी प्रतिनिधियों सहित स्टाफ को इसका श्रेय जाता है।

वहीं दूसरी और ग्राम पंचायत के युवा और चमन सिंह और वीरेंद्र सिंह राणा का कहना है कि पहले पंचायत में आने पर हम पुराने भवन मैं रहने के लिए मजबूर होना पड़ता था लेकिन अब पंचायत ने पंचायत भवन को बेहतरीन तरीके से बनाया है जिसके लिए पूरी पंचायत सहित जिला प्रशासन बधाई का पात्र है।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखखज्जियार में आयोजित किया गया 69वां वन्ण प्राणी सप्ताह।
अगला लेखशिमला ! “जन आंदोलन अभियान” के तहत कर्मचारियों को कोविड-19 शपथ दिलाई – एसजेवीएन !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें