सुंडला ! सुरंगानी में अपने रूम में मृत मिला एनएचपीसी कर्मी।

0
1707
सांकेतिक चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

चम्बा ! एनएचपीसी के बैरा स्यूल पावर स्टेशन सुरंगानी की कॉलोनी के क्वाटर में एक व्यक्ति की मौत हुई है। मिली जानकारी के अनुसार एनएचपीसी के पावर स्टेशन सुरंगानी के हस्पताल सुरंगानी में टेक्निशन भूषण मल्होत्रा पुत्र देस राज मल्होत्रा निवासी कोठी नंबर 79 ऋषि बिहार फेज दो तहसील व जिला अमृतसर का रहने वाला था। यह पिछ्ले सात-आठ वर्षों से बैरा स्यूल के हस्पताल में कार्यरत था।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

एनएचपीसी के बैरा स्यूल पावर स्टेशन सुरंगानी के हस्पताल के सी एम ओ कुंदन लाल ने बताया कि ग्यारह सितंबर को जब भूषण मल्होत्रा अपने कार्य पर नहीं आया तो फोन पर भूषण मल्होत्रा से संपर्क किया तो भूषण ने बताया कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है वह क्वाटर में आराम कर रहा हूं।और छुट्टी मांगी और उसे छुट्टी दे दी।इसके बाद जब चौदह सितंबर को भी भूषण मल्होत्रा अपने काम पर नहीं लौटा तो दोबारा फोन पर संपर्क किया गया जिस पर भूषण मल्होत्रा ने बताया कि वह अभी भी कुछ ठीक नहीं है, और उसने एक दिन का और अवकाश मांगा उसकी तबीयत को देखते हुए सी एम ओ कुंदन ने भूषण मल्होत्रा को एक दिन का अवकाश दे दिया।

उन्होने बताया कि पंद्रह सितंबर को भी जब भूषण मल्होत्रा अपने काम पर नहीं लौटा तो हस्पताल के सी एम ओ कुंदन ने फोन पर संपर्क किया पर इस बार कोई जवाब नहीं आया। तो सी एम ओ ने हस्पताल के कर्मचारी नारायण सिंह व ड्राइवर रवि कुमार को भूषण मल्होत्रा के क्वाटर भेजा। जब ड्राइवर व कर्मचारी नारायण सिंह भूषण के क्वाटर पहुचे तो दरवाजा खटखटाया पर कोई जवाब नहीं मिलने पर पुलिस चौकी सुरंगानी में फोन कर के पुलिस को सूचना दी।

इसके उपरांत उन्होने एन एच पी सी के आला अधीकारियों को सूचित किया। पुलिस थाना किहार के प्रभारी सुरेन्द्र ठाकुर की अगुवाई में पुलिस दल ने मौके पर पहुंच कर दरवाजा खोल कर देखा तो भूषण मल्होत्रा कमरे में मृत पड़ा था। जिस कारण पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले कर छानबीन शुरू कर दी है। शव को पोस्टमाटम के लिए चंबा मेंडीकल कालेज भेज दिया गया है। घटना की पुष्टि करते हुए डी एस पी सलूणी शेर सिंह ने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्ट माटम के लिए चंबा मैडीकल कालेज भेज दिया है पोस्टमार्टम के उपरांत शव को परिजनों के सपुर्द कर दिया जाएगा।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखसायर संक्रांति उत्सव है सद्भाव व अपने से बड़ों का आशीर्वाद लेने का – देवेंद्र धर !
अगला लेखशिमला 16 सितम्बर 2020 के फल और सब्जियों के दाम ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें