भारत सरकार ने बैन किए 59 चीनी ऐप, जाने कौन कौन से ।

0
1872
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

भारत सरकार ने बैन किए 59 चीनी ऐप। देश की सुरक्षा और लोगों की निजता के लिए खतरा बताते हुए इन चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाया गया है

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

अब ये ऐप जल्द ऐंड्रॉयड प्ले स्टोर और ऐपल प्ले स्टोर को भारत के लिए हटाने होंगे । जिनके पास पहले से इंस्टॉल्ड हैं, वे खुद इन्हें अनइंस्टॉल कर सकते हैं।

 

भारत-चीन तनाव के बीच केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए टिकटॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीज ऐप पर बैन लगा दिया है। बैन किए गए ऐप में मशहूर क्लब फैक्टरी, हैलो, क्लैश ऑफ किंग्स इत्यादि ऐप भी शामिल हैं। इसके अलावा वीचैट, कैम स्कैनर जैसे और भी बहुत फेमस ऐप शामिल हैं। इससे पहले भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से चाइनीज एप की एक लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार से अपील की थी कि इनको बैन किया जाए या फिर लोगों को कहा जाए कि इनको तुरंत अपने मोबाइल से हटा दें। इसके पीछे दलील यह दी गई थी कि चीन भारतीय डाटा हैक कर सकता है। सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि हमने उन 59 ऐप्स को बैन किया है, जो भारत की एकता, सुरक्षा, रक्षा के लिए खतरा हैं। सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार, वही ऐप बैन किए गए हैं, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रहपूर्ण थे और इन पर डाटा हैक करने के आरोप लगते रहे हैं।इन ऐप पर लगा प्रतिबंध

भारत सरकार ने जिन चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाया है, उनमें टिक टॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर, क्लैश ऑफ किंग्स, क्लब फैक्टरी, हैलो, वीचैट, जेंडर, डीयू बैटरी सेवर, लाइकी, यूकैन मेकअप, एमआई कम्युनिटी, वायरस क्लीनर, बिगो लाइव, एमआई वीडियो कॉल (शियोमी), डीयू रिकॉर्डर, कैम स्कैनर, क्लीन मास्टर, स्वीट सेल्फी, वीमेट इत्यादि शामिल हैं।

 

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेख!! राशिफल 30 जून 2020 मंगलवार !!
अगला लेखबिलासपुर 30 जून 2020 के फल और सब्जियों के दाम ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें