सोलन उपायुक्त ने कालका में श्रमिक रेलगाड़ियों के सम्बन्ध में जांची व्यवस्थाएं !

- नालागढ़ और बद्दी में क्वारेनटाईन केन्द्रों का किया निरीक्षण...

0
852
फाइल चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

सोलन ! उपायुक्त सोलन के.सी. चमन ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन सोलन कोविड-19 के खतरे के दृष्टिगत सभी एहतियाती उपाय अपनाते हुए प्रदेशवासियों के राज्य में आगमन तथा राज्य से बाहर जाने वाले व्यक्तियों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए कार्यरत है। के.सी. चमन आज हरियाणा के पंचकूला जिला के कालका में प्रदेश से बाहर जाने वाले व्यक्तियों के जाने के सम्बन्ध में आयोजित एक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। इस बैठक में उपायुक्त पंचकूला, पुलिस अधीक्षक पंचकूला, पुलिस अधीक्षक बद्दी एवं सोलन सहित भारतीय रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

के.सी. चमन ने कहा कि प्रदेश में रहने वाले अथवा कार्यरत अन्य राज्यों के व्यक्तियों के लिए रेलवे स्टेशन कालका से 22, 24, 26 तथा 28 मई, 2020 को विशेष श्रमिक रेल गाड़ियां उत्तर प्रदेश के विभिन्न स्थानों के लिए रवाना होंगी। कालका रेलवे स्टेशन तक इन यात्रियों को प्रदेश पथ परिवहन निगम की बसों द्वारा पंहुचाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इन रेल गाड़ियों में वही व्यक्ति जा सकेंगे जिन्होंने प्रदेश स्तर पर सम्बन्धित नोडल अधिकरियों के माध्यम से पंजीकरण करवाया है। भविष्य में चलने वाली रेलगाड़ियों में जाने के लिए भी नोडल अधिकारियों के माध्यम से ही पंजीकरण करवाना होगा।

उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन इस सम्बन्ध में हरियाणा सहित अन्य राज्यों के साथ पूर्ण समन्वय स्थापित कर कार्य कर रहा है। उन्होंने जिला प्रशासन पंचकूला एवं रेलवे के अधिकारियों के साथ इस सम्बन्ध में विभिन्न जानकारियां साझा की। उन्होंने रेलवे स्टेशन कालका का निरीक्षण कर विभिन्न प्रबन्धों का जायजा भी लिया।

के.सी. चमन ने तदोपरान्त सोलन जिला के बद्दी तथा नालागढ़ में स्थापित विभिन्न क्वारेनटाईन केन्द्रों एवं ईएसआई काठा का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं की जांच की तथा विभिन्न दिशा-निर्देश जारी किए। उन्होंने मानपुरा स्थित क्वारेनटाईन केन्द्र एवं श्रमिक छात्रावास नालागढ़़ में भी व्यवस्थाएं जांची।

उपायुक्त ने विभिन्न क्वारेनटाईन केन्द्रों एवं ईएसआई काठा में भोजन सूची का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि यहां सभी को मानक अनुसार पोषण युक्त भोजन सुनिश्चित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में चिकित्सकों द्वारा नियमित निरीक्षण किया जाना चाहिए।

उन्होंने निर्देश दिए कि जिला में होम तथा संस्थागत क्वारेनटाईन का पालन सुनिश्चित बनाया जाना चाहिए तथा इस विषय में सभी को जागरूक किया जाना चाहिए।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखचंबा को राहत, दो कोरोना संक्रमित हुए स्वस्थ।
अगला लेखशिमला ! निजी विद्यालय शिक्षा व्यवस्था का अभिन्न अंग – शिक्षा मंत्री !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें