कुल्लू ! पूर्व मंत्री रामलाल मार्कंडेय को कांग्रेस में शामिल किया तो देंगे सामूहिक इस्तीफा !

0
1014
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

कुल्लू , 01 अप्रैल ! हिमाचल प्रदेश में लाहौल स्पीति के विधानसभा उपचुनाव को लेकर अब हलचल मचनी शुरू हो गई है। कांग्रेस से निलंबित विधायक रवि ठाकुर को भाजपा के द्वारा यहां से अपना उम्मीदवार घोषित किया गया है। तो वहीं अब कांग्रेस पार्टी के द्वारा रवि ठाकुर के खिलाफ प्रचार को लेकर भी रणनीति तैयार की जा रही है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

ऐसे में जिला लाहौल स्पीति कांग्रेस के महासचिव सुरेश कारदो ने भी विधानसभा उपचुनाव लड़ने की दावेदारी जताई है और इस बारे कांग्रेस कमेटी को भी सूचित किया गया है। वही महासचिव सुरेश कारदो ने कहा है कि अगर कांग्रेस पार्टी पूर्व मंत्री रामलाल मारकंडा को चुनाव में उतारने का विचार करती है। तो यह विचार काफी गलत होगा और इससे कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी काफी निराशा होगी।

सुरेश कारदो ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं की पार्टी है और यहां पर संगठन के प्रति काम करने वालों की कमी नहीं है। पूर्व मंत्री डॉक्टर रामलाल मारकंडे का कांग्रेस पार्टी में हर कार्यकर्ता के द्वारा विरोध किया जा रहा है और उन्हें विधानसभा के उपचुनाव में उतरना बिल्कुल भी सही नहीं है।

इसके अलावा पूर्व विधायक रवि ठाकुर के प्रति भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं में खासा रोष है और विधानसभा उपचुनाव में इसी रोष से रवि ठाकुर को हार का सामना भी करना होगा। क्योंकि जो नेता अपनी पार्टी के विरुद्ध दूसरी पार्टी को वोट कर रहा है तो वह अपने इलाके का विकास बिल्कुल भी नहीं कर सकता है। सिर्फ सत्ता के लालच में आकर रवि ठाकुर के द्वारा यह कदम उठाया गया है।

सुरेश कारदो ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर के द्वारा लाहौल घाटी का तीन बार दौरा किया गया और यहां पर करोड़ों रुपए के विकास कार्यों को भी मुख्यमंत्री के द्वारा तेज किया हैं। ऐसे में उन्होंने भी विधानसभा का उप चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस कमेटी के समक्ष अपनी दावेदारी व्यक्त की है। क्योंकि वे लंबे समय से संगठन से जुड़े हुए हैं और संगठन की नीतियों का गांव गांव तक प्रचार भी किया गया है।

अब टिकट किसे दिया जाता है इसके बारे में कांग्रेस हाईकमान के द्वारा ही विचार किया जाएगा। लेकिन कांग्रेस हाईकमान को संगठन से जुड़े हुए किसी कार्यकर्ता को ही टिकट देना चाहिए। ना कि बाहर दूसरी पार्टी से आने वाले नेताओं को तरजीह दी जानी चाहिए।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखधर्मशाला ! आपदा मुक्त हिमालय को लेकर पीपल फॉर हिमालय अभियान 2024 का आगाज !
अगला लेखबिलासपुर ! विकसित भारत संकल्प पद यात्रा बेहद खास : जीतराम कटवाल !