चम्बा ! रा.कें.प्रा.पा. हिबरा में किया गया प्राथमिक शिक्षक संघ गैहरा के जनरल हाउस का आयोजन !

0
4806
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

चम्बा, 08 दिसंबर [ ज्योति ] ! राजकीय केंद्रीय प्राथमिक पाठशाला हिबरा में प्राथमिक शिक्षक संघ गैहरा के जनरल हाउस का आयोजन संघ के अध्यक्ष टेक सिंह राणा की अध्यक्षता में किया गया। जिसमें प्राथमिक एवं उच्च पाठशालाओं के कलेक्टर निर्माण तथा अन्य अध्यापक की समस्याओं पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

प्रस्ताव नंबर 1 के अनुसार सर्व संपत्ति से प्रस्ताव पारित किया गया कि संघ प्राथमिक एवं उच्च पाठशालाओं के बनाए जा रहे क्लस्टर का पूर्ण रूप विरोध करता है और प्रस्ताव पारित किया कि प्राथमिक पाठशालाओं के ढांचे से बिल्कुल छेड़छाड़ न की जाए इसे यथावत रखा जाए।

सभी अध्यापकों ने सर्व समिति से प्रस्ताव पारित किया की यात्रा भत्ता शर्त जो नहीं शर्त 30 किलोमीटर लगाई है उसे समाप्त करके पुराना पैटर्न 8 किलोमीटर ही रखा जाए। संघ के सभी सदस्य इस पर सहमत थे कि आशय का प्रस्ताव अपने उपनिदेशक को भेजा जाए। स्थानांतरण हेतु स्टे की दूरी जो 30 किलोमीटर की गई है उसे पूर्वा वत रखा जाए।

गैहरा में चल रहे अध्यापकों की कमी पर भी चर्चा हुई इस समय शिक्षा खंड की राजकीय प्राथमिक पाठशाला मुंढारा गिरड, सेरी, बिना अध्यापकों के चल रही है। इसके अतिरिक्त लगभग दो पाठशालाएं एकमात्र अध्यापक के सारे चल रही है। सरकार गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की बात करती है परंतु ऐसी हालत में यह बात तरक संगत नहीं लगती है। अतः सभी अध्यापक इस बात पर सहमत हैं कि खाली पाठशाला वह सिंगल अध्यापक पाठशालाओं के रिक्त पदों को भर जाए।

प्रस्ताव नंबर 5 के अनुसार प्रस्ताव पारित किया गया कि अंतर जिला स्थानांतरित जिस पर फिलहाल रोक लगा रखी है सरकार से विनम्र अनुरोध है कि उसे पुनः बहाल किया जाए।

नियमितिकरण हेतु वर्ष में एक बार की शर्त जो लगाई गई है उसे हटाकर पुनः वर्ष में दो बार किया जाए। यह शर्त सरासर गलत है इस पर सभी अध्यापक एकमत थे कि इसे तत्काल से हटकर पुराना पैटर्न लागू किया जाए।

पेंडिंग डीए की किस्त शीघ्र जारी की जाए। मध्याह्न भोजन राशि 6 मार्च में नहीं डाली गई जिससे मध्याह्न भोजन के संचालन में काफी समस्याएं आ रही है। उन्होंने विभाग व सरकार से आग्रह किया है की इस राशि को जल्द जारी किया जाए। प्री प्राइमरी को चले हुए लगभग 5 साल हो गए हैं लेकिन आज तक प्री प्राइमरी हेतु अध्यापकों का प्रावधान नहीं किया गया है इससे पाठशाला का कार्य बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है अतः सर्व समिति से प्रस्ताव पारित किया गया की प्री प्राइमरी हेतु शीघ्र अध्यापकों की नियुक्ति की जाए।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखशिमला ! मुख्यमंत्री राहत कोष में अंशदान ! 
अगला लेखशिमला ! लड़कियों की विवाह योग्य आयु बढ़ाने के विचारार्थ कमेटी का गठन !