सोलन ! बद्दी में कपडा बैंक का आगाज : जिसके पास अधिक है छोड जाये और जरूरत है तो ले जाए का दिया नारा ! 

नेकी की दीवार की तर्ज पर लोग दे सकेंगे कपडे व पुराना सामान

0
327
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

सोलन ,22 मार्च  [ पंकज गोल्डी ] ! साई रोड बद्दी पर सामाजिक संस्था विजन लाइफ मानव अधिकार फाऊंडेशन ने कपडा बैंक की शुरुआत की। नेकी की दीवार पर इसका संचालन संस्था द्वारा किया जाएगा। कपडा बैंक का शुभारंभ महिला थाना प्रभारी कृष्णा देवी ने किया जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता संगठन के प्रदेशाध्यक्ष विकास ने की। कार्यक्रम में अमरावती कालोनी के लोगों व आसपास के लोगों ने बढ़ चढक़र भाग लिया। महिला थाना प्रभारी कृष्णा देवी ने कहा कि ने कहा कि विजन लाईफ मानवाधिकारी फाऊंडेशन ने इस प्रकल्प की जो शुरुआत की है वो काबिले तारीफ है। इससे गरीब व जरूरतमंद लोगों को बहुत मदद मिलेगी।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

विकास झा ने कहा कि अगर आपके घर में पुराने पहनने, ओढ़ने, बिछाने के कपड़े, किताबें, खिलौना, बर्तन एवं दवाइयां, क्रॉकरी, फर्नीचर आदि जो भी है, जिसका आप प्रयोग नहीं कर रहे हैं और वह बद्दी शहर के जरूरतमंदों के काम आ जाए तो आप उक्त सामान को कपडा बैंक को दे दीजिए। यहां से जरूरतमंद आकर खुद इन्हें ले जाएंगे। कपडे टांगने के लिए यहां खूंटियां लगाई गई हैं जिसमें आप नए व पुराने वस्त्र दोनो दे सकते हैं। इसके अलावा बर्तन आदि अन्य सामान रखने के लिए नीचे जगह बनाई गई है। यहां जरूरतमंद आकर अपनी जरूरत के हिसाब से कोई भी चीज ले सकता है।

कपडा बैंक की दीवार उन लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन व्यतीत कर रहे हैं। अपने स्वाभिमान के कारण किसी के सामने हाथ नहीं फैलाते। जरूरतमंद लोग यहां आकर अपनी जरूरत के हिसाब से चीजें ले सकते हैं। इस अवसर पर महिला थाना प्रभारी कृष्णा देवी, प्रदेश अध्यक्ष विकास झा, जिला सोलन महिला प्रमुख अंकिता शर्मा, ओम प्रकाश बंसल, प्रीतम झा, जयेश पाटील, रंजीत पांडे, रवि कुमार, हरविंदर सिंह, अमरजीत सिंह, संदीप सिंह, संजय सिंह, रुपेश, जितेंद्र कुमार सभी गणमान्य लोग उपस्थित थे।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखशिमला ! हिमाचल विधानसभा में आज भी हंगामा, जनमंच कार्यक्रम को लेकर सदन में उठा बवाल !
अगला लेखसोलन ! काले अध्याय के रूप में लिखे जायेगे सुक्खू सरकार के यह सौ दिन : पम्मी !