शिमला ! सुक्खू सरकार के ख़िलाफ़ मोर्चा खोलेगी बीजेपी !

0
33
pornhup.fun hetero teenager assfucked during hazing.
greedyforporn.com
xvideos davia had hot sex.
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

शिमला , 24 जनवरी , [ विशाल सूद ] ! प्रदेश बीजेपी ने सुक्खू सरकार द्वारा बंद किए संस्थानों के ख़िलाफ़ मोर्चा खोलने का ऐलान किया है। भारतीय जनता पार्टी विधायक दल ने निर्णय लिया कि कल यानी 25 जनवरी से 15 फरवरी तक जिन स्थानों पर संस्थान बंद किए गए हैं। वहां भाजपा हस्ताक्षर अभियान चलाने जा रही है और 15 फरवरी से 28 फरवरी तक जिला मुख्यालय पर भाजपा विरोध प्रदर्शनों का आयोजन करेगी जिसमें नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर विशेष रूप में उपस्थित रहेंगे।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

बीजेपी मीडिया प्रभारी कर्ण नंदा ने बताया कि अभी तक प्रदेश की कांग्रेस सरकार 32 बिजली बोर्ड के कार्यालय बंद कर चुकी है, इसी प्रकार 291 स्वास्थ्य संस्थान पीएचसी पर ताले लग चुके हैं, 3 तहसीलों को बंद कर दिया गया है, 20 उप तहसीलों को भी बंद कर दिया गया, 9 कानूनगो सर्कल भी बंद कर दिए गए हैं, इसी प्रकार 80 पटवार सर्कल, 17 आईटीआई 2 श्रम एवं रोजगार विभाग के कार्यालय, 2 रेवेन्यू सबडिवीजन, 16 पीडब्ल्यूडी सर्कल डिवीजन सबडिवीजन, 18 एसडीपीओ पुलिस स्टेशन पुलिस पोस्ट , 3 आयुर्वेद अस्पताल, 41 आयुर्वेदा स्वास्थ्य केंद्र 32 जल शक्ति विभाग के कार्यालय ,11 बीडीओ दफ्तर और 40 अन्य विभागों को भी बंद कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से यह दफ्तर बंद हुई है यह हिमाचल प्रदेश के विकास और उन्नति पर सीधा सीधा प्रहार है। ऐसा प्रतीत होता है कि हिमाचल प्रदेश में केवल कांग्रेस बंद एक्सप्रेस चल रही है।

कर्ण नंदा ने कहा कि फिजूलखर्ची में कांग्रेस पार्टी काफी आगे चल रही है छोटे से प्रदेश में मुख्यमंत्री के बाद उपमुख्यमंत्री की भी घोषणा कर दी गई। उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में भी केवल दो उपमुख्यमंत्री हैं तो यह समझ नहीं आता कि हिमाचल प्रदेश में उपमुख्यमंत्री की क्या जरूरत पड़ गई।
प्रदेश में 7 मंत्रियों के साथ 6 सीपीएस की भी नियुक्ति कर दी गई, सीपीएस की नियुक्तियों से हिमाचल प्रदेश पर आर्थिक बोझ बढ़ा ही है।

राजनीतिक नियुक्तियों की दृष्टि से 4 ऐसे पद वितरित कर दिए गए हैं जिनको कैबिनेट रैंक दिया गया है इससे भी हिमाचल प्रदेश पर आर्थिक बोझ पड़ा है।
कर्ण नंदा ने कहा कि सरकार हिमाचल प्रदेश की जनता पर महंगाई का बोझ बढ़ाने का कार्य कर रही है जिस प्रकार से सरकार ने डीजल पर ₹3 प्रति लीटर रेट बढ़ाया उसके कारण हिमाचल प्रदेश में महंगाई दर बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने निरंतर डीजल के दामों को नियंत्रित रखने का प्रयास किया है ,नवंबर 2021 में पेट्रोल और डीजल पर पूर्व की जयराम ठाकुर सरकार ने राहत दी थी जिसमें डीजल को ₹17 सस्ता किया गया था। प्रदेश सरकार ने जब डीजल पर ₹3 बढ़ाए तो सीधा-सीधा माल भाड़ा 1.50 रुपए प्रति किलोमीटर के हिसाब से बड़ा।

 

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

tokyomotion
xnxx sexy busty russian teacher dildoing pussy and ass.
https://http://taxi69.pro/

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखशिमला ! कांग्रेस कार्यालय में किया गया शिमला ग्रामीण विधानसभा ब्लॉक कांग्रेस की आम सभा का आयोजन !
अगला लेखशिमला ! ऊर्जा के लिए ओपन पॉलिसी लेकर आएगी प्रदेश सरकार,सभी तरह की क्लीयरेंस के बाद प्रॉजेक्ट की होगी नीलामी !