शिमला । ऊपरी शिमला में बर्फ़बारी से जनजीवन अस्त व्यस्त ।

1
1167
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

शिमला । ऊपरी शिमला में बर्फ़बारी से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। इस बार लोगों को बर्फबारी का इंतज़ार नहीं करना पड़ रहा है। अप्पर शिमला के विभिन्न क्षेत्रों में कल रात से बर्फबारी के दौर जारी है। शिमला से सटे कुफरी, नारकंडा, खड़ापत्थर और खदराला में भारी हिमपात हुआ है।  ताजा बर्फबारी ने जनजीवन अस्त-व्यस्त करना शुरू कर दिया है। बर्फबारी के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग-5 यातायात के लिए अवरुद्ध हो गया है। मार्ग अवरुद्ध होने के चलते पथ परिवहन निगम द्वारा आज सुबह ऊपरी शिमला के लिए बसें नहीं भेजी गईं। निगम द्वारा रामपुर व रिकांगपिओ के लिए वाया मशोबरा होकर बसें भेजी जा रही हैं। इसी तरह कुफरी में भी सड़क अवरुद्ध है और प्रशासन द्वारा बर्फ हटाने का काम शुरू कर दिया गया है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

कुफरी में 2 इंच तक बर्फबारी होने का समाचार है। राजधानी शिमला में रात से रुक-रुक कर वर्षा हो रही है और यहां का मौसम भी बर्फबारी के अनुकूल बना हुआ है। शिमला की ऊंची चोटी जाखू पर हल्का हिमपात हुआ है। शिमला प्रशासन ने बर्फबारी से निपटने के लिए इंतज़ाम मुकम्मल कर लिए हैं।उधर, पर्यटन नगरी मनाली सहित राज्य के जनजातीय क्षेत्रों किन्नौर और लाहौल-स्पीति में भी व्यापक बर्फबारी हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक कोठी में 60, खदराला में 20, कल्पा में 17 और मनाली में 10 सेंटीमीटर बर्फबारी हुई है।

बारिश-बर्फबारी के कारण पूरा प्रदेश भीषण ठंड की चपेट में आ गया है। केलंग में न्यूनतम तापमान -2.6, मनाली में -0.9, कल्पा में -0.6, डलहौजी में 0.2 और शिमला में 2.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग ने शुक्रवार से राज्य भर में मौसम के साफ रहने का अनुमान जताया है।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखशिमला ! सरकार ने ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी को दूर करने के लिए क्या कदम उठाए – हाईकोर्ट !
अगला लेखचम्बा ! गेट के पास खाई में लुढकी कार, दर्दनाक हादसे में 3 युवकों की मौत !