शिमला ! कर्फ्यू के बीच एचआरटीसी की नाइट बस सर्विस पहले की तरह चलती रहेगी !

0
2439
सांकेतिक चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

शिमला ! कोरोना संकट बढऩे के बाद प्रदेश के 4 जिलों में नाइट कर्फ्यू शुरू हो गया है लेकिन कर्फ्यू के बीच एचआरटीसी की नाइट बस सर्विस पहले की तरह चलती रहेगी और रात्रि में सफर करने वाले यात्रियों को कोई परेशानी नहीं होगी, ऐसे में बसों की समयसारिणी में भी कोई बदलाव नहीं किया है। जिस समय पर रात्रि रूट चलते हैं, उन रूटों पर बसें चलती रहेंगी लेकिन सरकार ने नाइट बस सॢवस जारी रखने में यह फैसला लिया है कि प्रदेश के जिन जिलों में कर्फ्यू लगा होगा, उन जिलों से नाइट बस सर्विस सवारियां नहीं उठाएगी। इन नियमों का सख्ती से पालन करना होगा।वहीं सरकार ने बसों में 50 प्रतिशत सीटों के साथ बसें चलाने के निर्देशों को भी सख्ती से लागू करने के निर्देश जारी किए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला शिमला, कांगड़ा, कुल्लू और मंडी में रात 8 से सुबह 6 बजे तक नाइट कफ्र्यू लगा है, ऐसे में इस समय में वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध है लेकिन एचआरटीसी नाइट बस सर्विस 50 प्रतिशत सीटों के साथ चलती रहेगी ताकि यात्रियों को सुविधा मिलती रहे।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

इस संबंध में सरकार ने संबंधित जिला डीएम को वीडियो कॉन्फ्रैंस के माध्यम से भी निर्देश जारी किए हैं।कफ्र्यू के बीच नाइट बस सर्विस में सफर करने वाले यात्रियों के लिए बस टिकट कर्फ्यू पास का काम करेगा। यानी वह टिकट एक कर्फ्यू पास की तरह होगा। यदि आप सफर के दौरान कर्फ्यू वाले जिला में उतरते हैं तो कर्फ्यू ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी को आप वह टिकट दिखाकर अपने गंतव्य की ओर जा सकते हैं। ऐसे में आपको को पुलिस परेशान नहीं करेगी। प्रदेश में करीब 120 रूटों पर नाइट बस सर्विस चल रही है।एचआरटीसी के एमडी संदीप कुमार ने बताया कि कर्फ्यू के बीच प्रदेश में नाइट बस सर्विस पहले की तरह चलती रहेेगी लेकिन बीच में आने वाले कर्फ्यू वाले जिलों से सवारियां उठाने की अनुमति नहीं होगी। वहीं रात्रि की बसों में सफर करने वालों के लिए बस टिकट ही कर्फ्यू पास की तरह काम करेगा। बसें सरकार के निर्देशों के अनुसार 50 प्रतिशत सवारियों के साथ चलेंगी।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेख!! राशिफल 25 नवम्बर 2020 बुधवार !!
अगला लेखशिमला ! कुलदीप राठौर जयराम सरकार की बजाए अपनी पार्टी की तरफ ध्यान दें – त्रिलोक कपूर !