चम्बा जिला के कई क्षेत्रों में बनी हुई है पीने के पानी की समस्या !

0
942
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

चम्बा ! चम्बा जिला में बहुत से ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। यहाँ बहुत से ऐसे ग्रामीण क्षेत्र हैं जहां पर तीन-चार महीनों से लोगों के घरों के नलों में पानी नहीं आया है जिसकी वजह से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। चम्बा जिला के बैरागढ़ पंचायत के कुरथला गांव की बात करें तो गांव के लोगों को करीब 3 महीने से पेयजल की समस्या से जूझना पड रहा है। ग्रामीणों को पेयजल के लिए 2 किलोमीटर दूर पैदल जाना पड़ता है और महिलाओं को वहां से पानी सर पर उठाकर लाना पड़ता है। जहां ग्रामीणों को अपने पीने के पानी के लिए दिक्कत होती है वहीं उनके मवेशियों को पानी पिलाने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। कई बार उन्होंने विभाग से पानी को सुचारू रूप से चलाने का आग्रह किया लेकिन अभी तक उनकी समस्या का हल नहीं हो पाया है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

चम्बा मुख्यालय से करीब 90, किलोमीटर दूर यह इलाका है चुराह और इसकी खुद नुमाइंदगी यंहा के विधानसभा उपाध्यक्ष के हाथो में है। पर इस क्षेत्र में हर तरह की मुश्किलों से यंहा के ग्रामीणों को दो चार होना पड़ता है। यंहा के स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव में करीब 3 महीने से पानी की समस्या बनी हुई है। उन्होंने कहा कि उन्हें अपने बाल बच्चों के लिए पीने के लिए पानी करीब 2 किलोमीटर दूर से लाना पड़ता है। जिसके लिए उन्हें काफी दिक्कत होती है। उन्होंने कहा कि कपड़े धोने के लिए पानी लाने के लिए गाड़ी का खर्चा भी करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि कई बार उन्होंने विभाग से आग्रह किया है कि उनके गांव में पानी की समस्या को हल किया जाए लेकिन अभी तक उनकी समस्या का हल नहीं हुआ है।

वही जल शक्ति विभाग के अधिकारी ने बताया इस गांव में अभी तक किसी ने भी कोई पेयजल के लिए शिकायत नहीं की है अगर कोई शिकायत आती है तो उसका समाधान जल्द कर दिया जाएगा। हालांकि उन्होंने बताया कि फिटर के साथ अगर ग्रामीणों ने शिकायत की है और उसने विभाग को इसकी सूचना नहीं दी है तो उस फिटर के ऊपर भी कार्रवाई की जा सकती है। उन्होंने कहा कि मोबाइल टावर के लिए सड़क पर फाइबर लाइन बिछाई जा रही थी जिसकी वजह से पानी की पाइपों को क्षति पहुंची थी लेकिन उसे जल्द ही ठीक कर दिया गया था।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

पिछला लेखभारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारियों ने राज्यपाल से की भेंट !
अगला लेखहिमाचल में कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामले को लेकर सरकार बड़े कदम उठाने जा रही !