शिमला । बर्फबारी के दौरान सभी सम्बद्ध विभाग समन्वय स्थापित कर कार्य करें ।

0
789
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

शिमला । बर्फबारी के दौरान सभी सम्बद्ध विभाग समन्वय स्थापित कर कार्य करें ताकि लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। अतिरिक्त उपायुक्त अपूर्व देवगन ने आज बर्फबारी के दौरान विभिन्न विभागों की तैयारियों की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह निर्देश दिए।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

उन्होंने कहा कि बर्फबारी के दौरान सभी व्यवस्थाओं को सुचारू बनाए रखने के लिए शिमला नगर को 5 सैक्टर में बांटा गया है। प्रत्येक सैक्टर में हर विभाग का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है ताकि आपातकालीन परिस्थितियों के दौरान समयबद्ध कार्य सुनिश्चित किया जा सके।
उन्होंने कहा कि इस दौरान जन जीवन सामान्य बनाए रखने के लिए विभिन्न विभाग अपने-अपने नियंत्रण केन्द्र स्थापित करें तथा आवश्यकता पड़ने पर सम्पर्क करने के लिए नोडल अधिकारियों की तैनाती करें। उन्होंने कहा कि नियंत्रण कक्षों व नोडल अधिकारियों की सूचना व जानकारी तुरन्त जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को उपलब्ध करवाई जाए।

उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग, नगर निगम व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा जिला में विभिन्न मार्गों को बर्फबारी के दौरान तुरन्त साफ करने के लिए आपसी तालमेल स्थापित कर कार्य किया जाना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने अधीन उपकरणों, श्रमिकों तथा अन्य आवश्यक सूचनाओं को अपडेट कर एक सप्ताह के अंदर जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को सूची सौंपना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि बर्फबारी के दौरान छायादार सड़कों तथा अस्पताल एवं आपातकालीन सेवाओं के लिए प्रयोग होने वाली सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर साफ किया जाना आवश्यक है ताकि लोगों को कोई असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, मशीनरी व पर्याप्त रेत अथवा बजरी की उपलब्धता सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग तथा नगर निगम प्राथमिक क्षेत्रों की सड़कों को साफ करने की तत्परता सुनिश्चित करें ताकि विभिन्न व्यवस्थाओं को सुचारू रखा जा सके तथा किसी प्रकार की सेवाएं बाधित न हो।

बर्फबारी के दौरान पर्यटकों की आमद को देखते हुए टुटीकंडी बाईपास पर्यटन कार्यालय के समीप शहर की पार्किंग की स्थिति प्रतिदिन के आधार पर अंकित की जानी आवश्यक है ताकि शहर में पर्यटकों की तादात बढ़ने से पर्यटकों को वहां पार्किंग सुविधा उपलब्ध करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि इस दौरान टुटीकंडी बाईफरकेशन से शहर के लिए पूर्व की भांति हिमाचल पथ परिवहन विभाग की टैक्सियों की व्यवस्था पर भी विचार किया जा रहा है। बर्फबारी के दौरान जलापूर्ति सुचारू बनाए रखने के लिए जल शक्ति विभाग व नगर निगम को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए तथा सभी तैयारियां पूर्ण करने की आवश्यकता पर बल दिया।

विद्युत आपूर्ति की निरंतरता को बनाए रखने के लिए विभागीय अधिकारी आपसी तालमेल बनाकर कार्य करें। बर्फबारी के दौरान पेड़ों के गिरने से विद्युत आपूर्ति की ठप होने की घटनाओं को देखते हुए वन विभाग और विद्युत विभाग के अधिकारी व कर्मचारी शिमला नगर के साथ-साथ जिला के विभिन्न क्षेत्रों में संयुक्त निरीक्षण कर कमजोर पेड़ों को गिराने की कवायद करें। उन्होंने कहा कि वन विभाग जिला के अन्य क्षेत्रों में भी अधिकारियों को इस संबंध में सूचित करें।

बर्फबारी व कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग विशेष सतर्कता बरततें हुए विभिन्न सैक्टरों मंे चेनयुक्त एम्बुलेंस की उपलब्धता तथा स्वास्थ्य अधिकारियों की तैनाती सुनिश्चित करें ताकि कोविड-19 के साथ-साथ अन्य बीमारियों के रोगियों को भी तुरन्त चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा सके।

बर्फबारी के दौरान पार्किंग से लगने वाले जाम से निपटने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में अतिरिक्त पार्किंग सुविधाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है। इस दौरान सड़कों के किनारे खड़ी गाड़ियों को अन्य स्थानों पर बनाई जाने वाली अस्थाई पार्किंग में खड़ा किया जाएगा। अस्पतालों के नजदीक भी वैकल्पिक पार्किंग की व्यवस्था करने पर विचार किया जा रहा है।

बर्फबारी के दौरान बर्फ बाहुल्य क्षेत्रों में खाद्य आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि आगामी 15 दिसम्बर, 2020 तक जिला के सभी बर्फ बाहुल्य क्षेत्रोें में मार्च, 2021 तक की आवश्यक वस्तुएं तथा अन्य आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस दौरान किसी प्रकार की कालाबाजारी न हो तथा मूल्य वृद्धि आदि पर नियंत्रण रखने के लिए अधिकारी निरंतर निगरानी व जांच कार्य करते रहें। बर्फबारी के दौरान एलपीजी या अन्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए वैकल्पिक मार्गों से आपूर्ति सुनिश्चित की जाए।
उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग द्वारा बर्फबारी के दौरान पर्यटकों के लिए क्या करें अथवा क्या न करें पैम्फलेट में वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बीएसएनएल, जीओ तथा एयरटेल से अपने बर्फ वाले क्षेत्र के टावर में पर्याप्त तेल का भंडारण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि बर्फबारी में फंसे लोगों को बचाने के लिए फोर बाई फोर गाड़ियों का इंतजाम किया जाएगा तथा बर्फ वाले क्षेत्र में होटल या अन्य स्थानों की पहचान करने तथा बर्फ में फंसे लोगों को बचाने के लिए उपमण्डल स्तर पर बचाव दल का गठन करने के निर्देश संबंधित उपमण्डलाधिकारियों को दिए गए हैं ताकि फंसे लोगों को वहां पर सुरक्षित पहुंचाया जा सके।

बैठक में अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी कानून एवं व्यवस्था प्रभा राजीव, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी प्रोटोकाॅल विनय धीमान, सहायक आयुक्त डाॅ. पूनम, संयुक्त आयुक्त नगर निगम अजीत भारद्वाज, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार शर्मा, मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह के अतिरिक्त होमगार्ड, एसएसबी, आईटीबीपी, स्वास्थ्य, अग्निश्मन, खाद्य आपूर्ति, लोक निर्माण विभाग, जल शक्ति विभाग, बागवानी, विद्युत, पर्यटन, कृषि, मिल्कफेड, हिमाचल पथ परिवहन निगम, पुलिस तथा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी उपस्थित थे।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखहिमाचल । सी॰यू॰ पर तत्परता से कार्यवाही के लिए मुख्यमंत्री का आभार – अनुराग ठाकुर
अगला लेखधर्मशाला केन्द्रीय विश्वविद्यालय के लिए वन भूमि परिवर्तित करने के लिए प्रदेश सरकार ने तीव्रता से की कार्यवाही – महेन्द्र सिंह !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें