लाहौल ! जनजातीय लाहौल में एक शिक्षक के सहारे चलते स्कूल !

0
954
सांकेतिक चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

लाहौल ! जनजातीय लाहौल में अधिकांश स्कूलों में एक एक शिक्षक ही तैनात किया गया है जो स्कूल को चला रहा है।लाहौल में टी जी टी के 44 पद खाली पड़े है और अविभावक परेशान है व जो अध्यापक पोस्ट होते हैं राजनेताओं की सिफारिश पर यहां से अपना तबादला कुल्लू करा लेते है। लाहौल स्पीति में अध्यापक नौकरी करने के लिए राजी नहीं हैं।इसका असर यहां पर शिक्षा की गुणवत्ता पर तो पड़ रहा है साथ ही लाहौल के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चे दूसरे इलाकों के छात्रों से पिछड़ रहे है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

कुछ स्कूलों में 2014 से टी जी टी की पद खाली पड़े है! शारीरिक शिक्षा अध्यापकों के स्वीकृत 37 में से 23 पद खाली हैं। स्कूल में अध्यापक की कमी से अभिभावक परेशान हो कर अपने बच्चो को बाहर भेजने की तैयारी कर रहे हैं। घाटी में नालडा,गोहरमा,जसरथ सहित कई स्कूलों में एक एक अध्यापक है । सरकार ने हर दो से तीन किलोमीटर में स्कूल तो अपग्रेड तो कर दिया है लेकिन यहां नियमित रूप से अध्यापकों की नियुक्ति नहीं की गई है ।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखलाहौल ! मानव वर्मा ने संभाला पुलिस अधीक्षक का कार्यभार !
अगला लेखशिमला । बचत भवन सभागार में 6 शहरी स्थानीय निकायों के वार्डों का आरक्षण से संबंधित बैठक का आयोजन !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें