जंजैहली ! शिकारी देवी, शैटाधार व धार्मिक तथा पिकनिक स्थलों की ओर रुख न करें – एसडीएम !

कोरोना से सम्बन्धित दिशा निर्देशों को हल्के में लेना हो सकता है खतरनाक

0
3336
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

जंजैहली ! कोराना वायरस संक्रमण से लोगों की सुरक्षा हेतु भारत सरकार व हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न चरणों में कर्फ्यू व लाॅकडाउन लगाया गया है जो अभी भी जारी है। । इन चरणों के दौरान सरकार द्वारा लोगों की सुविधा हेतु आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं की पूर्ति व आपातकालीन स्थिति के लिए आंशिक छूट भी प्रदान की जा रही है परन्तु इस छूट का मतलब बेवजह बाहर घूमना फिरना व फालतू की आवाजाही नहीं है। कोरोना संक्रमण के दिन प्रतिदिन बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए सभी नागरिकों को स्वयं तथा समाज की सुरक्षा के लिए पूर्ण सावधानी के साथ सरकार के दिशा निर्देंशों का पालन करने की सख्त जरुरत है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

उपमण्डलाधिकारी नागरिक थुनाग, सुरेन्द्र मोहन ने बताया कि गर्मी के मौसम में उपमण्डल के भीतर शिकारी देवी, शैटाधार व अन्य धार्मिक तथा पिकनिक स्थलों की ओर हर वर्ष लाखों लोग आते हैं। इन स्थानों पर अनावश्यक भीड़ की वजह से कोरोना संक्रमण का खतरा अधिक है जिस कारण सरकार द्वारा मन्दिरों व पिकनिक स्थलों में आने जाने पर पूर्ण प्रतिबन्ध लगाया गया है। उन्होंने उपमण्डल तथा बाहर से आने वाले लोगों से अनुरोध किया है कि आजकल इन स्थलों का बिल्कुल भी रुख न करें। आपदा की इस घड़ी में ऐसी यात्राएं करने से परहेज रखें तथा समाजहित के लिए सरकार के दिशा निर्देशों का ईमानदारी से पालन करें। उपमण्डल थुनाग के भीतर उक्त दिशा निर्देशों की अवहेलना पाए जाने पर ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

उन्होंने उपमण्डल के सभी नागरिकों से अनावश्यक रुप से घर से बाहर न निकलने, समूहों में काम न करने, माॅस्क का सही ढंग से प्रयोग करने, उचित सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील की है ।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखशिमला ! विपक्षी नेताओं को लांछन की राजनिती नही करनी चाहिये – राकेश पठानिया !
अगला लेखचंबा के घरमाणी गांव के किसान के जज्बे को प्रशासन ने किया सलाम ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें