चम्बा । पिछले कल कोरोना संक्रमित बच्ची आज पहुंची आयुर्वेदिक क्वॉरंटाइन सेंटर।

0
1665
सांकेतिक चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

चम्बा ! जिला चंबा के सलूणी ब्लॉक किहार क्षेत्र में पाई गई 2 साल की कोरोना संक्रमित बच्ची को स्वास्थ्य व पुलिस दल की कड़ी निगरानी में आयुर्वेदिक चिकित्सालय क्वॉरंटाइन सेंटर बालू पहुंचाया गया। जबकि बच्ची की कम उम्र को देखते उसकी मां को भी संग लाया गया है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

गौर हो कि आयुर्वेदिक चिकित्सालय क्वॉरंटाइन सेंटर बालू में पूरी सुरक्षा के साथ बच्ची को पहुंचाने की प्रक्रिया में इस बार जिला प्रूशासन ने क्वॉरंटाइन सेंटर परिसर बालू के आसपास भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। ताकि गत रोज जैसे दो युवकों को जब क्वॉरंटाइन के लिए किहार से चंबा लाया गया उस दौरान वहां काफी लोग उपस्थित रहने सहित मोबाइल पर वीडियों इत्यादि बनाते मिले थे।

ऐसी स्थिति दोबारा उत्पन्न न हो उसके लिए शनिवार को जिला प्रशासन ने किहार क्षेत्र से लेकर आयुर्वेदिक चिकित्सालय क्वॉरंटाइन सेंटर बालू तक विशेष इंतजाम किए गए थे। ताकि बच्ची अथवा मां की कोई भी तस्वीर या वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल न हो सके। कोरोना वायरस संक्रमित पाई गई 2 साल की बच्ची की मां को अस्पताल में एक अलग कमरे में रखा गया है। बच्ची की देखरेख के लिए शिशु रोग विशेषज्ञ सहित अन्य स्टाफ को भी अस्पताल में तैनात किया गया है। जहां बच्ची की देखरेख की व्यवस्था सहित उसके मनोरंजन के लिए भी इंतजामों में स्वास्थ्य विभाग जुट गया है। जबकि दो साल की मासूम को आयुर्वेदिक चिकित्सालय क्वॉरंटाइन सेंटर में रखते ही उसके उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग ने कवायद आरंभ कर दी है।

जबकि विभाग द्वारा कोविड-19 राज्य स्तरीय कमेटी से भी बच्ची के उपचार को लेकर संपर्क बनाए हुए है। जिसकी मुख्य वजह राज्य में इतनी कम उम्र का कोरोना वायरस पॉजिटिव संबंधी अपने में पहला मामला आना है। इससे पहले जितने भी कोरोना वायरस संक्रमित मामलें आए है वह वृद्ध व्यक्तियों या व्यस्क व्यक्तियों के पाए गए है।

जिला चंबा के सलूणी ब्लॉक में कोरोना वायरस संक्रमित पाई गई दो साल की बच्ची को आयुर्वेदिक चिकित्सालय क्वॉरंटाइन सेंटर बालू में भर्ती कर लिया है। जबकि बच्ची की छोटी उम्र देखते हुए विभाग ने उसकी मां के रहने के लिए भी अलग से कमरें का इंतजाम किया गया है। ताकि उपचार के दौरान बच्ची का सहयोग स्वास्थ्य दल को मिल सके। बाकि इस दिशा में विभाग लगातार कोविड-19 राज्य स्तरीय कमेटी से संपर्क बनाए हुए है। जिनके आगामी निर्देशों के तहत मासूम को चंबा से बाहर रेफर या यहीं पर उसके उपचार जारी रखने की दिशा में निर्णय लिया जाएगा।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखकीटनाशक दवा के निगलने से मासूम बच्ची की मौत
अगला लेखहमीरपुर ! एक 52 वर्षीय व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें