कुल्लू ! निर्धारित नियम का नहीं होगा सही से पालन तो ,नहीं मिलेगा सामान – पुलिस !

0
1356
काल्पनिक चित्र
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

कुल्लू ! आज विपत्ति की इस घड़ी में विश्व बेहद उम्मीदों के साथ भारत की तरफ देख रहा है। कोरोना वायरस को हराने में भारत की केंद्र व सभी राज्यों की सरकार के साथ-साथ जिम्मेदार नागरिकों ने अपनी पूरी शक्ति लगा दी है, क्योंकि कोरोना वायरस के संक्रमण की हमारे यहाँ पर अभी तक कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्टेज नहीं आई है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

बचाव के उपाय करके हमको इस स्टेज को अपने प्यारे भारत देश में आने से हर हाल में रोकना है, इसलिए देश को कोरोना वायरस के संक्रमण से और खुद को व अन्य सभी लोगों को बचाने के लिए आराम से घर में रहकर भीड़भाड़ से बचाव ही इसका एक मात्र सबसे कारगर उपचार है, इस समय सरकार के द्वारा जारी किसी भी एडवाईजरी की अनदेखी करना हम सभी देशवासियों को बहुत भारी पड़ सकता है।

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कुल्लू पुलिस सख्ती बरत रही है। अब दुकानों में बिना मास्क लगाए खरीदारी करने के लिए आने वालों को सामान नहीं मिलेगा। पुलिस ने जिले में यह मुहिम चलाई है। इसमें पुलिस ने जिला भर के दुकानदारों से सहयोग मांगा है।पुलिस ने दुकानदारों से अपील की है कि कुल्लू पुलिस की मुहिम को सफल बनाएं। सामान खरीदने वाले लोग अगर बिना मास्क के हो तो उन्हें सामान न दें। पुलिस की यह मुहिम कोरोना संक्रमण रोकने में कारगर साबित होगी। गौर रहे कि सूबे में मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। इसके बावजूद बाजार में कई लोग मास्क पहने बिना ही उतर रहे हैं। इससे कोरोना संक्रमण का खतरा बना हुआ है।

हालांकि कुल्लू जिले में अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आया है। ऐसे में सामान खरीदने वाले लोग अगर मास्क पहनकर ही बाहर निकलेंगे तो कोरोना संक्रमण का खतरा भी कम रहेगा। उधर, इस संबंध में पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि पुलिस ने मास्क नहीं तो राशन नहीं अभियान शुरू किया है। इसमें जिला के व्यापारियों से आग्रह किया गया है कि सामान खरीदने वाले लोग अगर फेस मास्क न लगाएं तो उन्हें सामान न दें। उन्होंने कहा कि इसकी निगरानी के लिए पुलिस के जवानों को भी दुकानों में तैनात किया गया है।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखकुल्लू के शमशर में चार गढ़ों के गढ़पति शमशरी महादेव मंदिर का है दो हजार साल पुराना इतिहास !
अगला लेखशिमला ! पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू नहीं हुआ तो स्कूल खोलना भी आसान नहीं !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें