शिमला। कैबिनेट ने महामारी से लड़ने के लिए लिया बड़ा फैसला !

0
4323
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

शिमला। जयराम कैबिनेट ने कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने के लिए बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने फैसला लिया है कि निजामुद्दीन हॉट स्पॉट से 15 मार्च के बाद हिमाचल आए सभी लोगों के टेस्ट किए जाएंगे। चाहे वह लोग घर में होंगे या फिर किसी स्वास्थ्य संस्थान में। किसी में चाहे लक्षण हों या ना हों। इसकी प्रक्रिया जल्द शुरू होगी। यह जानकारी अतिरिक्त मुख्य सचिव (हेल्थ) आरडी धीमान ने दी। उन्होंने कहा कि हालांकि यह प्रोटोकोल के बाहर है। लेकिन लोगों की सुरक्षा के लिए ऐसा किया जा रहा है।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

अतिरिक्त मुख्य सचिव (हेल्थ) आरडी धी मान ने बताया कि एक्टिव केस फाइडिंग अभियान शुरू किया जा रहा है। इसके लिए करीब 8 हजार टीमें बनाई जा रही हैं। साथ ही करीब 16 हजार कर्मचारी सेवाएं देंगे। लोगों के घर-घर जाकर विभिन्न जानकारियां लेंगे। उन्होंने कहा कि ऊना को छोड़कर बाकि जिलों में इसे तुरंत प्रभाव से शुरू किया जा रहा है। ऊना में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले आने के चलते दो तीन दिन बाद प्रक्रिया शुरू होगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में पीपीई किट, एन 95 मास्क् आदि की कोई दिक्कत नहीं है। कैबिनेट ने भी साफ तौर पर कहा है कि इसके लिए धन की कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में इस वक्त सरकारी अस्पतालों में 75 वेंटिलेटर हैं। 60 के ऑर्डर दिए गए हैं। लेकिन, लॉकडाउन के चलते ट्रांसपोटेशन में दिक्कत आ रही है। इसके लिए केंद्र से आग्रह किया है कि अपनी वेंटिलेटर की सप्लाई में उनकी सप्लाई को भी शामिल किया जाए।बद्दी में कोरोना वायरस के चलते दम तोड़ चुकी हेलमेट उद्योग की मालकिन के मामले में उन्होंने बताया कि महिला के नजदीकी संपर्क में आए सात लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है। उनके सैंपल लिए जा रहे हैं। साथ ही सेकेंडरी संपर्क में आए 22 लोगों को निगरानी में रखा गया है।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखज्वाली ! रैहन बाजार में दुकानदारों खासकर सब्जी दुकानदारेां को गलब्ज बांटे !
अगला लेखबिलासपुर ! कोरेनटाइन केंद्र का विधायक जीत राम कटवाल ने किया निरीक्षण !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें