करसोग ! पहली बार ममेल कामाक्षा क्षेत्र का दौरा करेंगे छतरी मगरू मानगढ़ के आराध्य नाग चपलांदू !

0
1020
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

करसोग ! छतरी मानगढ़ के आराध्य देव नाग पचलांदू अपने ऐतिहासिक 10 दिवसीय करसोग दौरे पर निकलेंगे देवता मण्डी छतरी के पनाहर गांव से सोने के सुनेहरे रथ पर सवार होकर अपने कार करिन्दों के साथ 22 मार्च को करसोग के लिए प्रस्थान करेंगे तथा,23 मार्च को कामाक्षा काओ पहुंचेंगे इसमें वो पहली बार नाग कजौणी व ममलेश्वर महादेव और कामाक्षा भगवती काओ के अधिकार क्षेत्र में आने वाले क्षेत्रों का दौरा भी करेंगे।देवता के मुख्य कारदार सुरत राम का कहना है कि सबसे पहले नाग देवता अपनी जाई(कन्या) निलम शर्मा के घर में अतिथि स्वरूप दर्शन देंगे तत पश्चात ममेल में अपने वसणू तनुज शर्मा के घर में पधारेंगे इस बिच कामाक्षा भगवती और ममलेश्वर महादेव मंदिर में दिव्य देव मिलन का भी कार्यक्रम रहेगा।देवता के मुख्य पुजारी कुन्दन लाल शर्मा जी का कहना है कि अपने प्राकट्य के पश्चात् देवता का ममेल का यह पहला दौरा है जबकि देवता का प्राकट्य के साक्ष्य ममेल व चपलांदी में प्राप्त होते है। जिसका प्रमाण देवता की गुर वाणी में भी सुनने को मिलता है। कुन्दन लाल जी का कहना है कि पुरे भारत वर्ष से लोग देवता के मंदिर में दर्शन करने आते हैं और अपनी मनोकामनाएं पूर्ण होने पर देवता का धन्यवाद करते हैं।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

नाग देवता के इतिहास के अनुसार देवता धन दौलत, पत्नी ,पुत्र ,प्राप्ती का योग बनाते है। जिसके लिए इन्हें सम्पूर्ण भारत में जाना जाता है। प्राचीन काल में भी मंडी के राजा की मनोकामना पूर्ण होने पर नाग देवता को लगभग 400 विघा जमीन भेंट स्वरूप प्रदान की थी ।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखधर्मपुर ! अर्चित ठाकुर डॉ सर्व पली राधा कृष्ण डिग्री कॉलेज धर्मपुर में एनएसयूआई अध्यक्ष नियुक्त।
अगला लेखसंधोल ! स्टेडियम की दीवार बनने से ढेड दर्जन परिवार नजरबंद !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें