मंडी ! डीसी ने की कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों की समीक्षा !

0
837
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

मंडी ! उपायुक्त एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष ऋग्वेद ठाकुर ने शनिवार को जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की आपात बैठक बुलाकर मंडी जिला में कोरोना वायरस से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने सभी संबंधित विभागांे से कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर अपनी पूरी तैयारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने दायित्व के अनुरूप रोकथाम को लेकर एहतियाती कदम उठाएं और सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी का पूरा पालन करें।

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

एक हफ्ते में सभी स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण
उपायुक्त ने कहा कि अगले एक हफ्ते के अंदर मंडी जिला में स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मियों को कोरोना वायरस की जांच व बचाव को लेकर प्रशिक्षित किया जाएगा। प्रशिक्षण में यह तय किया जाएगा कि डॉक्टरों से लेकर एएनएम कर्मियों तक सभी को कोरोना वायरस से निपटने को लेकर उनकी भूमिका के बारे में स्पष्टता हो और उन्हें पता हो कि कोरोना वायरस  संदिग्धों की जांच में उन्हें क्या करना है व क्या सावधानियां रखनी हैं।
10 हजार ‘सर्व’ स्वयंसेवियों को भी देंगे प्रशिक्षण
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि मंडी जिला में आपदा प्रबंधन प्राधिकरण से जुड़े 10 हजार ‘सर्व’ स्वयंसेवियों को भी प्रशिक्षिण दिया जाएगा। यह प्रशिक्षण उपमंडल स्तर पर दिया जाएगा, जहां उन्हें कोरोना से जुड़ी किसी भी आपात स्थिति में सहायता व सहयोग कार्यों को लेकर तैयार किया जाएगा। साथ ही पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों को भी कोरोना वायरस से बचाव को लेकर शिक्षित किया जाएगा।
विदेशों से आए सभी लोगों की निगरानी
उपायुक्त ने कहा कि प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के पास हाल ही में विदेशों से आए सभी लोगों की लिस्ट आई है। स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी की जांच कर ली है और किसी में कोरोना वायरस का काई भी लक्षण नहीं पाया गया है। उन्होंने कहा कि जिले में विदेश से आए सभी लोगों की निगरानी की जा रही है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि यदि विदेश से हाल ही में लौटा काई व्यक्ति जांच से छूट गया हो तो वे प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें ताकि स्वास्थ्य कर्मी उनके घर पहुंच कर आवश्यक जांच कर सकें।
कोरोना से निपटने को पूर्व तैयारियों पर जोर
ऋग्वेद ठाकुर ने कहा कि नेरचौक मेडिकल कॉलेज में कोरोना वायरस के संदिग्धों के लिए 100 बिस्तरों के आइसोलेशन केंद्र की व्यवस्था कर ली गई है। इसके अलावा जोलन अस्पताल मंडी में भी आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम को अपने अपने क्षेत्र में आइसोलेशन केंद्र बनाने के लिए उपयुक्त भवन चिन्हित करने के निर्देश दिए गए हैं।
उपायुक्त ने कहा कि जिला में सभी प्राइवेट अस्पतालों को पत्र के जरिए कोरोना से जुड़ा कोई मामला आने पर तुरंत उसे जिला निगरानी अधिकारी एवं जिला स्वास्थ्य अधिकारी के संज्ञान में लाने को कहा गया है।
बैठक में सीएमओ डॉ. जीवानंद चौहान ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा उठाए जा रहे एहतियाती कदमों व पूर्व तैयारियों से अवगत करवाया।
बैठक में एडीएम श्रवण मांटा, सीएमओ डॉ. जीवानंद चौहान, गृहरक्षा छठी वाहिनी के आदेशक संजीव लखनपाल, डीएसपी मुख्यालय करण गुलेरिया, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश ठाकुर, लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता विजय चौधरी के अलावा बिजली बोर्ड, जल शक्ति विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखशिमला ! चाबा पुल को बस योग्य बनाने की मांग – मुख्यमंत्री से मिले विक्रमादित्य सिंह !
अगला लेखकोरोना वायरस के चलते सुंदरनगर का नलवाड़ मेला स्थगित !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें