सुन्नी में ‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस’ हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।

0
828
- विज्ञापन (Article Top Ad) -

सुन्नी ! अटल बिहारी वाजपयी राजकीय महाविद्यालय सुन्नी में ‘अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस’ हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय की महिला प्राध्यापक, कर्मचारी एवं विद्यार्थी पारंपरिक हिमाचली वेशभूषा और आकर्षक पोशाकों में सज धज कर महाविद्यालय के महिला दिवस कार्यक्रम में पहुंचे। कार्यक्रम में महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. नीना गुप्ता ने मुख्यातिथि के रुप मे शिरकत की। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिस प्रकार अंग्रेजी के शब्द वुमेन मे मेन शब्द भी समाहित है उसी प्रकार स्त्री-पुरुष भी एक दूसरे के पूरक है अत: दोनो की सभ्य समाज में बराबर की भागेदारी एवं बराबर सम्मान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म में महिला को देवी का दर्जा उपलब्ध है और महिलाओं के गुणों की वंदना की जाती है। लेकिन मध्यकालीन समय में महिलाओं का शोषण हुआ जिसके बाद महिलाओं के सम्मान के लिए अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत की गई। इस दिन समाज में महिलाओं के अस्तित्व और योगदान को याद किया जाता है। उन्होंने महिलाओं के करुणामयी होने के साथ शक्ति रूपेण होने की बात एक शेर पढ़ कर कही
“ऐसे तो एक आंसू भी मुझे बहाकर ले जाए”
वैसे कोई तूफान मुझे हिला भी नहीं सकता”
उन्होंने कहा कि आज वक्त बदल गया है महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ बराबरी के साथ आगे बढ़ रही है उन्होंने समाज में महिलाओं के उत्थान के लिए कार्य करने वाले महान लोगों को याद करते हुए कहा कि

- विज्ञापन (Article inline Ad) -

“कुछ लोग थे जो वक्त के सांचे में ढल गए
कुछ लोग थे जो वक्त का सांचा बदल गए”

उन्होंने उपस्थित लोगों से हमेशा महिलाओं का सम्मान करने की अपील की।
इस अवसर पर ‘महिला सशक्तिकरण’ के अंतर्गत काव्य पाठ, भाषण प्रतियोगिता, वाद विवाद प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग व नारा लेखन प्रतियोगिता मे महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। काव्य पाठ में कृतिका ने प्रथम, मनीषा शर्मा ने द्वितीय, भावना ने तृतीय, भाषण प्रतियोगिता में मानसी शर्मा ने प्रथम, पंकज शर्मा ने द्वितीय, रवीना ने तृतीय तथा वाद विवाद प्रतियोगिता में जितेंद्र ने प्रथम, दीपिका ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।

- विज्ञापन (Article Bottom Ad) -
पिछला लेखसुन्नी ! बिजली बिल जमा नहीं होने की स्थिति में कनेक्शन 28 मार्च के बाद काट दिए जाएंगे।
अगला लेखसुन्नी ! एक दिवसीय किसान जागरूकता शिविर का आयोजन !

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें